Monday 19 March 2012

हैरां न हो / अशोक लव

हैरां न हो ,अपना -अपना नसीब है ,
कोई दिल से दूर ,कोई करीब है l 

No comments: