Tuesday 9 June 2009

नाटककार हबीब तनवीर नहीं रहे : श्रद्धांजलि

मशहूर रंगकर्मी हबीब तनवीर का भोपाल में निधन

हो गया है। 85 वर्षीय हबीब काफी समय से बीमार चल रहे थे . रंगमंच की दुनिया पर एक अमिट छाप छोड़ने वाले श्री हबीब तीन हफ्ते से बीमार थे। उन्हें पहले हजेला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बाद में डॉक्टरों की सलाह पर उन्हें नैशनल अस्पताल ले जाया गया। उन्होंने जब आखिरी सांस ली तब उनकी बेटी नगीन उनके पास मौजूद थीं। पहले उन्हें सांस लेने में कुछ तकलीफ हो रही थी और इसके इलाज के लिए उन्हें अस्पताल ले जाया गया था। बाद में उनकी हालत बिगड़ गई और उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया। एक सितंबर 1923 को हबीब का जन्म रायपुर में हुआ था।
श्री हबीब ने पत्रकारिता से अपने करिअर की शुरुआत की। बाद में उन्होंने रंगमंच की दुनिया में कदम रखा। उन्होंने रंगमंच को' जिन्ने लाहौर नहीं वेख्या , जम्या नहीं' और बाजार जैसे कई कालजयी नाटक दिए। इसके अलावा हबीब ने आगरा बाजार , चरनदास चोर जैसे कई मशहूर नाटक लिखे | उन्होने कई हिंदी फिल्मों में भी काम किया। हाल ही में उन्होंने सुभाष घई की ' ब्लैक ऐंड वाइट ' फिल्म में भी ऐक्टिंग की थी। हबीब तनवीर को पद्म विभूषण से भी सम्मानित किया गया था।
*हबीब तनवीर जी को विनम्र श्रद्धांजलि !

No comments: